You are currently viewing TDS Full Form in Hindi – TDS Kya Hai

TDS Full Form in Hindi – TDS Kya Hai

आपको पता है TDS Full Form क्या है. तो दोस्तों आज में इसी Article में आपको TDS से जुडी हवी हर एक जानकारी देना चाहता हु. टीडीएस एक प्रकार का टैक्स होता है. जो की आपके कमाए गए पैसे से कट जाता है.

TDS Full Form Tax Deducted at Source होती है. और सरल भाषा में टीडीएस का मतलब Income Tax Department द्वारा बनाया गया Tax detect करने का नियम.

जिसमे तुरंत उसी समय टीडीएस काट लिया जाता है जिस समय किसी व्यक्ति की कोए कमाई होती है. यानी आज मेरी किसी प्रकार की कमाई होती है तो उससे मेरा TDS तुरंत ही काट लिया जायेगा.

TDS Kya Hai (What is TSD)

TDS Kya Hai (What is TSD)
TDS Kya Hai

TDS का मतलब Tax Deducted at Source होता है. अक्षर टीडीएस को Salary से जोड़कर देखा जाता है. क्युकी जीन लोगों को ठिक ठाक Salary मिलती है उनका ही टीडीएस कटता है.

लेकिन क्या आपको पता है Salary के बिना भी टीडीएस कट सकता है. साथ ही साथ टीडीएस की कटौती कम भी की जा सकती है. और तो और आप चाहे तो कटा हुवा TDS भी वापस पा सकते है.

TDS Full Form हिंदी में स्रोत पर कर कटौती होता है. आपकी कमाए का स्रोत कोनसा है कंपनी या फिर जहाँ पर आप काम करते है वो. या फिर आपके सेवा के बदले आपको Payment कर रही है.

TDS System में होता ये है की Salary या Payment देने वाले संथान आपको Payment देने से पहले ही आपका TAX काट लेते है. बची हवी रक्कम आपको Salary या Payment के रूप में दे देते है.

इस तरह आपकी कमाई पर Tax की कटौती होती है. तो इस लिए इस व्यवथा को Taxation के भाषा में Tax Deducted at Source कहाँ जाता है. अभी तक आपको TDS Kya Hai (What is TSD) समज आया होगा.

ये भी पड़े

टीडीएस कटौती का एक उदहारण

अब हम टीडीएस कटौती को एक छोटे से उदहारण से समजते है. जिसमे 10% कटौती का नियम है. इसमें मोहन एक Business Man है और सतीश एक वकील है. मोहन ने अपने किसी कम के लिए सतीश की कुछ सेवा ये लिए.

तो मोहन की तरफ से सतीश को 40,000 रुपये Payment होना है. मोहन को करना ये होगा की 40,000 का 10% 4000 पहले ही काट कर रख लेगा. और 36,000 रुपये सतीश को दे देगा.

जो 4000 उसने काटे थे वो वही TDS होगा. मोहन उन 4000 रुपये को सतीश के नाम से Income Tax Department के खाते में जमा कर देगा. आप को याद रहे ये Article TDS Full Form in hindi पर है.

टीडीएस के फायदे (Advantages of TSD)

टीडीएस दरसल कमाते जावो और भुकतान करते जावो इस सिधांत पर कम करता है. इस System से सरकार और कर्जदार दोनों फायदे में रहते है. आपको TDS भरने के लिए कभी नहीं जाना पड़ता है.

इसका काम Online हो जाता है. जैसे की हमने TDS Full Form में देखा था.

टीडीएस कहां कहां कटता है?

१. Salaries – आप किसी कंपनी में काम करते है उसका सालाना Income taxable Income में आता है. तो आपका Employ उस समय आपका TDS काटता है.

२. Interest Payments – आपकी जमा राशियोमे बड़ी मात्र में ब्याज मिल रहा हो तो बैंक टीडीएस कटता है.

३. Commission Payments – किसी फार्म या संथान से कोए काम करवाने के लिये या Properties ख़रीदन या बेचने में TDS कटता है.

४. Rent Payments – आपको माकान के किराय में ५०,००० रुपये किराय से ज्यादा किराय मिल रहा होगा तो है. तो किराय दार को TDS काटना पड़ता है.

५. Consultation Fees – आपको किसी संथान से वकील, चार्टर Account, से income हो रही हो तो उस वक्त टीडीएस काटना पड़ेगा.

६. Professional Fees – अगर आपको किसी बड़े कम के लिए Hire किया जाता है. जैकी की Business man की तरह तब ये Fees लागु होती है. Professional Fees किसी आम इंसान के लिए नहीं होती है.

टीडीएस के नियम

टीडीएस काटाने और इसके जमा करने से लेकर Income Tax department की और से कुछ नियम बनाये गए है. जिनपर समेक्षित रूप से अमल न करने पर जुरमाना, व्याज और लेट फी भरना पड़ सकता है.

टीडीएस ज्यादा कट गया है तो टैक्स रिफंड कैसे ले?

अगर आपकी कोए आम दनी Tax limit से कम है और किसी कारन टैक्स सम्बंदित कोए भी रिपोर्ट आपको नहीं मिल पा रहा है. तो आप Income Tax department में अपने Claim के लिए Apply कर सकते है.

जब आप Income Tax Refund में कोए Tax Payments की जानकारी देंगे तब Extra Tax Refund की तोर पर आपके खाते में भेज दिया जायेगा. इसमे कुछ १ से लेकर ३ महिनोका समय लग सकता है.

आज आपने क्या सिखा

आज TDS Full Form Tax Deducted at Source होता है ये सिखा. साथ ही साथ TDS Kya hai और उसमे Tax कैसे कटता ये सिखा. उसके बाद टीडीएस कटौती का एक उदहारण और टीडीएस के फायदे भी देखे.

आखिर में टीडीएस कहां कहां कटता है, टीडीएस के नियम और ज्यादा कटा हुवा TDS कैसे वापस लिया जाता है ये देखा. अगर आपको हमारा TDS Full Form in Hindi पर लिखा हुवा Article पसंद आया हो तो इसे शेयर करे.

Omkar Pandit

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम Omkar Pandit है और में इस वेबसाइट का Owner हु. अगर आपको मेरे लिखे हुवे Article पसंद आये हो तो इसे आपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

Leave a Reply