Web Hosting Kya Hai? (Types of Hosting) और इसको कोनसी कंपनी से ख़रीदे.

में आपको बताऊंगा की Web Hosting Kya Hai. आपको शायद पता नहीं होगा की ये क्या है और इसको खरीदते किसे है. आम तोर पर इसका इस्तेमाल website चलने में किया जाता है या फिर किसी app को चलने के लिए किया जाता है. पहले लोगो को पता नहीं था इसके बारे में लेकिन आज लोग Web Hosting Kya Hai और वो कितने प्रकार की होती है इसके बारे में बहुत लोग जानना चाहते है.

 

आज की दुनिया बहुत बदल गए है लोगोको इंटरनेट चाहिए, mobile phone, और साथ ही साथ कंप्यूटर, आज लोगोकी जुरुरत बन चुकी है technology. और हर कोई घरसे पैसे कमाना चाहता है या फिर खुदका business खोलना चाहता है. और आपको Online business करना है तो पहले आपको Web Hosting kya hai ये जानना पड़ेगा, आपके लिए कोनसा plan सही होगा इसे समजना पड़ेगा. उसके बाद आप अपना business online चला सकते है.

Hosting kya hai

Web Hosting Kya Hai in hindi (What is Web Hosting in Hindi) –

जो IT Student होते है उनको पता होगा की Web Hosting Kya hai. लेकिन जो लोग IT side से नहीं है उनको नहीं पता होता इसके बारे में, तो आज हम यही सीखेंगे. मानो मेरे पास एक mobile phone है और उसमें एक movie है उसे किसीके साथ शेयर करना होगा तो में SHAREit, Zender और Bluetooth से शेयर करूँगा. लेकिन मेरा दोस्त मेरे पास होगा तो ही में इन app को यूज़ करके movie send कर पाऊंगा.

 

और बहुत दूर होगा तो इसका इस्तेमाल नहीं कर पाऊंगा. लेकिन इसको किसी internet से connect कर दिया तो कोई भी किसी कोनेसे इस link address पर जा कर इस movie को download कर सकता है. यानी आपको एक online website खोलना होगा, एक Domain buy करके एक अछी सी Web Hosting लेनी होगी और इन दोनों को आपस में connect करना होगा.

 

तो अभी आपको अंदाज आ गया होगा की Web Hosting Kya Hai in hindi me.अभी हमने जो उदाहरण लिया movie का उसका size भी होता है कुछ का MB होता है तो कुछ का GB में, अगर हम Movie को अपने mobile phone में रखते है तो हमारे mobile का space बाद जाता है, लेकिन वही हमें online अपने website पर रखना हो तो हमें कुछ पैसे pay करने पड़ते है.

 

 क्युकी हम किसी और का space या CPU इस्तेमाल कर रहे है तो हमें उसको Rent/भाड़ा देना ही होगा. तो ये सब काम online होता है और इस चीज को Rent पर लेना यानी वेब होस्टिंग खरीदना होता है.

 

अभी हमने देखा  Web Hosting Kya Hai in hindi. अब हम सीखेंगे कि इनको कैसे ख़रीदे.

 

 How To Buy Domain And Hosting From Godaddy –

अभी तक अपने जाना होगा की ये होता क्या है. अब हम जानेंगे Domain And Hosting को खरीदे कैसे. (पहली बात तो में बतादू मानो तो आसान है और ना मानो तो नामुमकिन) पहले तो आपको Godaddy के website पर जाना होगा. उस पेज पर बहुत option होंगी और साथ ही साथ Find Your Perfect Domain नाम का search बार होगा. उसपर आपको Domain नेम टाइप करना होगा.

 

अगर उस नाम का को domain Available होगा तो आपको निचे दिखा देगा is Available और अगर नहीं होगा तो आपको is Taken नाम का massage दिखाए देगा, उस टाइम आपने जो नाम types किया हुवा है उसको बदलना होगा यानी दूसरा नाम खोजना होगा. अगर आप 1 year की hosting खरीदते हो तो उसके साथ आपको domain भी free मिलेगा.

 

जब भी कभी आप godaddy के website पर जायेंगे तब आपको एक More नाम का option दीखेगा उसपर click करदो कुछ option निकल कर आ जायेंगे आपके पास Hosting, email and Office, Website + Marketing, WordPress, Website Security, Vps, और Pro आप चाहो तो इनमेसे कोई भी option चुन सकते है जिसकी आपको जरूरत हो.

 

आपको Hosting पर click करदो. उनमेसे कोई भी एक अच्छा plan select करलो जैसे की. Click WordPress Hosting. अब आपको 4 plan मिलेंगे. Basic, Deluxe, Ultimate, और Ecommerce. जो भी अच्छा लगे उसको. Add to Card पर click करदो. Select term length आपको कितने टाइम तक इसको ख़रीदना है इसको select करना होगा. Continue पर click करदो. आपको domain चूज करना होगा. Submit button पर click करना होगा.

 

उसके बाद आपको एक बार check करना होगा और Check Out पर click करना होगा उसके बाद आपको Create an Account पर सारी information डालनी होगी और Create Account पर click करदो. Billing Information. Payment. Complete. करने के बाद आपको एक email आ जायेगा उसमें आपको server नाम दिये होंगे. उसको Domain के DNS पर जाकर. आपको add करने होते है, उसकी  पूरी Information आपको आपके Email में मिल जाएगी.

     

Types Of Web Hosting in Hindi (वेब होस्टिंग के प्रकार) –

अभी तक आपने देखा की इसको कैसे ख़रीदे और उसको कैसे domain के साथ जोड़े ये सिखा अब हम सीखेंगे वेब होस्टिंग के प्रकार कोनसे होते है. इसमें Dedicated Hosting, Shared Hosting, Cloud Hosting, और Vps hosting के प्रकार होते है. अब हम जानेंगे इनके अंदर क्या होता है और साथ ही साथ आपको इनमेसे कब आपको कोनसी होस्टिंग लेनी चाहिये.

 

 

1)      Dedicated Hosting –

Dedicated Hosting यानी अपने एक पूरा CPU Rent पर लेलिया है. मान लीजियेगा एक CPU है, इसमें processor, Ram, और एक Hard disk है यानी अपने पूरा का पूरा CPU ही Rent पर लेलिया है. ये होती है Dedicated Hosting. इसकी price Start From Rs 7000 से लेकर 20000 तक जा सकता है एक month के वो आप पर depend करता है आप कोनसा plan लेते हो.

 

Dedicated Hosting के फायदे –

·         आपका Speed बहुत बढ़िया होगा कभी कम नहीं होगा.

·         इसकी Security कमाल की होती है.

·         जितने चाहो उतने website host कर सकते हो.

·         आपको Ranking में help करेगा.

·         हर टाइम आपके website को scan करेगा.

 

Dedicated Hosting के नुकसान –

·         इसकी कीमत बहुत ज्यादा है.

 

2)      VPS –

VPS ऐसा होता है की मान लीजिये गा एक Dedicated CPU है और मेरे पास 8 Core और 8 gb Ram का machine है तो उसमे मैने चार sub-machine बनादी यानी उन चार भागोको में 2 Core और 2 gb Ram देदी. आब जब VPS hosting खरीदेंगे तो आपके पास 2 Core और 2 gb Ram का plan ही आयेगा. आसन भाषा में एक CPU के कही भाग किए जाते है और उसको sell किया जाता है उसको VPS कहते है. इसकी price Start From Rs 2000 से लेकर 10000 तक होती है पर month.

 

VPS के फ़ायदे –

·         इसमें आपको बहुत बड़े level के CPU मिल जाते है जिसको इस्तेमाल करके आप बाकियोसे आगे निकल सकते है.

·         इसमें आपका load Timing बहुत बढ़िया होगा.

·         आपकी website का down time बहुत बहुत कम होगा

·         इसमें आपको top level की Security मिल जाएगी.

 

VPS के नुकसान –

·         इसको हर कोई नहीं खरीद पाता.

 

3)      Shared Hosting –

देखो जब Dedicated server कुछ भाग होते है तो वो VPS कहलाते है और VPS के कुछ भाग होते है तो उसको हम Shared hosting कहते है. इसमें machine के सभी part को लोगोके साथ share किया जाता है और ये depend करता है company के ऊपर वो कितने लोगोके साथ शेयर करते है इसे, इसको 10 लोगके साथ भी शेयर कलिया जाता है और 5 लोगोके साथ भी. इसकी price Start From Rs 50 से लेकर 300 तक पर month पड़ जायेगा.

 

Shared Hosting के फ़ायदे –

·         अगर आप लोग नये है और अभी अभी सुरु कर रहे है तो आपको Shared hosting ख़रीदना चाहिये. इसमें आपको काफी सस्ते plan मिलेंगे जो की आपको Starting के लिए सीखने में मदत करेंगे. अगर आपके website पर 500 user हर रोज आते है या उससे काम तो आप इसका इस्तेमाल बहुत असानिसे कर सकते है.

 

Shared Hosting के नुकसान –

·         यहाँ पर आपको Speed बहुत slow मिलेगी

·         यहाँ पर ज्यादा Security नहीं होगी और आपके website को असानिसे चुरा लेगा

·         बहुत ज्यादा Down time रहेगा और इसके वजेसे आपकी website कभी Rank नहीं होगी. अगर बाकी योका servers टाइम crash हुवा तो आपका भी होगा.

 

4)      Cloud Hosting –

जब आपके Website Multiple Servers पर Stored रहते है. यहाँ पर हर system हर Servers एक दुसरे से Connect रहते है, हर Computer एक दुसरे से Connect रहते है. यहाँ पर आपको 2 GB चाहिये तो आप 2 GB ले सकते है, उसके बाद आपको लगा की आपके पास Traffic ज्यादा आ रहा है तो आप उसको on the go Update कर सकते है.

 

Cloud Hosting Kya hai

यहाँ पर servers एक दुसरे में connect रहते है. यहाँ Down time भी नहीं होता. अगर आपकी System में Crush हो गया तो तो आपके website दूसरी System के Servers पर move हो जायेगी. price Start From Rs 1000 से चालू होता है.

 

Cloud Hosting के फ़ायदे –

·         ये आपको better Result देगी.

·         यहाँ पर आपको Down time नहीं मिलेगा.

·         बहुत बढ़िया Security मिलेगी.

·         On the go आप इसको update कर पायेंगे.

·         इसको आप VPS का अगला version समजो.

 

Cloud Hosting के नुकसान –

·         बाकियों की तुलना में ये बहुत ज्यादा ही महंगा होता है.

·         इसमें Root Access की सुविधा नहीं दिई जाती.

 

ये भी पड़े – 

– कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है

– Recycle Bin क्या है?

      – Domain name kya hai in hindi

 

Domain vs Hosting कोनसा ज्यादा पॉवर फुल है –

आज से पहले अपने कभी ऐसा google पर search नहीं किया होगा की Domain vs Hosting, लेकिन बहुत लोग search करते है. में आपको एक बात बतादू की Charger के बिना mobile नहीं चल सकता वैसे ही ये एक दुसरो के सिवाय नहीं चल सकते. लेकिन बहुत लोगो को अभी भी जानना है की Domain vs Hosting में सबसे ज्यादा पॉवर फुल कोन है.

 

देखो ये दोनों की पॉवर तो same ही है. आपने top level का domain ले लिया और top level की वेब होस्टिंग तो ये दोना अछे तरीकेसे work करते है. और अगर आपने COM छोडकर IN या XYZ नाम का domain ले लिया और उसके साथ Cloud Hosting ले लिए तो इस में होस्टिंग की पॉवर ज्यादा होती है. अगर आप COM domain लेते हो और साथ ही साथ Shared hosting लेते हो तो इसमें domain की पॉवर ज्यादा होती.

  

Linux Hosting vs Windows Hosting इन दोनों के बिच का अंतर –  क्या आप जानते हो Linux Hosting vs Windows Hosting में क्या फरक है. और इन दोनों में से आप के लिए कोनसी सही है.

 

Linux Hosting क्या है –

यानी आपको जो Servers space मिला है आपको Server site से वो Linux Operator System में Run करता है. आज कल 80% Website इसी पर ही run होती है. क्यू की ये Operator System बहुत इस्तेमाल होने वाला सिस्टम है. और एक बात बतदू आपको Space agency, NASA, Monetering Device भी ज्यादा तर Linux Hosting ही इस्तेमाल करते है.

 

ये आपको market में बहुत आसानिसे मिल जाएगी और इसके बहुत सारे advantages है. Market में बहुत सारी कंपनी है, जैसे की Ubuntu, Redhat Linux, SUSE, Slackware, Centos, Debian, और Clear Linux ये सारी कंपनिया Linux Hosting provide करती है. अगर आप PHP, Perl, Node, और Angular software से अपनी website develop कर रहे है तो आपको Linux के साथ ही जाना चाहिये क्युकी ये ज्यादा advantages provide करता है.

 

हम इसकी Price और Plan की बात करे तो इसमें तिन तरह के plan होते है. Premium Corporate Rs. 287 / month अगर आप 2 साल खरीदते है तो, Premium SMS Rs. 226 / month, Unlimited Rs. 204 / month अगर आप 3 साल के लिए खरीदते हो तो. एक बार आप Visit करके देखिये आपको ये plan कितने में पड़ता है.

 

Windows Hosting क्या है –

आपने कभी सुना है Windows Hosting के बारे में, अगर आप asp.net पर आप अपने website बनाते है तो आपको Windows Operator System ही लेना चाहिये. ये एक Paid Operator System है. मान लो अगर में Windows Hosting की कंपनी सुरु करता हु तो मुजे विंडोज कंपनी को pay करना पड़ेगा. और यहाँ पर Linux Hosting की कंपनी सुरु करता हु तो मुजे किसीको pay करने की जरुरत नहीं है.

 

विंडोस होस्टिंग पर आज कल 15% से लेकर 20% तक Website Run होती है. आप जिस Project पर काम कर रहे है उसको कोनसी होस्टिंग ज्यादा सूटेबल है, ये जाननेके बाद ही आप इसे खरीदना वरना आपको बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है.

 

 

कौन सी कंपनी से होस्टिंग ख़रीदना चाहिये –

 

आपको पता होना चाहिये की आप जिस कंपनी से वेब होस्टिंग खरीद रहे हो तो उसमें कौन से Operator system, space और Support होना चाहिए. इसकी आपको पूरी जानकारी होने चाहिये नहीं तो आपका टाइम और पैसा जाया हो सकता है.

 

Disk Space in Hosting

आपको शायद पता नहीं होगा Disk Space in Hosting किसे कहते है. आपको इसमें 10 GB से लेकर 500GB तक का Disk Space मिलता है वो आप पर है की आप कौन सा Plan खरीदते है. आप Godaddy का Starter plan लेते हो तो 30 GB मिलता है, Economy लेते हो तो 100 GB, Deluxe और Ultimate में आपको Unlimited Disk Space मिल जायेगा.

 

Bandwidth

आपके दिमाग में ये सवाल जरुर आया होगा जी Bandwidth क्या है, और ये Frequency का upper level और lower लेवल होता है. इसको GHz में नापा जाता है. आपने कभी किसी को बोलते हुवे सुना होगा की मेरी पास 2.5 GHz का Processer है और 1 second में 10 Mb का speed देता है फाइल transfer करने में, तो ये सब इसकी Frequency होती है और ये decide करती है की कितने टाइम में कितना data transfer करना है.

 

बहुत लोग कहते है की फिर Bandwidth Frequency बड़ा दूंगा. लेकिन जैसे ही Frequency बहुत बड़ती है तो वैसे ही आपका internet speed की Rang कम हो जायेगी. अगर आपका main Connection बहुत दूर है तो. ज्यादा तर city में 1 या 2 Exchange होते है. उसीसे ही बाकी सबको Connection मिलता है.

 

Server Uptime –

Server Uptime यानी आपका website कितने टाइम तक Down रहता है यानी आपकी Site कितनी टाइम तक बंद रहेगी ये decide करता है. ये Hosting का सबसे नाजुक हिस्सा होता है जिसकी वजह से आपकी Ranking घट सकती है या फिर आप कभी ना rank करो उस Keyword पर. जब भी आपको होस्टिंग लेना हो तो उसका Server Uptime जरुर check करना. उसका Minimum Uptime 30 Min के अंदर होना चाहिए.

 

Customer Service –

इसमें Global Support होना चाहिए, 24/7 Chat और Calling Support होना जरुरी है साथ ही साथ आपको ये भी देखना जरुरी है की आपका Problem कितनी टाइम में Solve होती है. Customer Service सबसे बड़ी help line है आपके लिए अगर आपका website में कोई भी Problem तो उसका Solution 24/7 में होना चाहिए.

 

What is WordPress Hosting (वर्डप्रेस होस्टिंग क्या है) –

अगर आप WordPress पर कोई Website बनाते है और उसीका ही Server लेते है तो आपको Result बहुत बढ़िया आयेंगी. जैसे की Reseller Club पर जायेंगे तो आपको इसकी दो Plan मिलेंगी WordPress Hosting और उसका ही Plus Plan है. अभी आप नए है तो आप इसका Startup plan ले सकते है ताकि आप इससे बहुत कुछ सिख सके. वैसे इसका Startup Plan Rs.480 का है लेकिन जभी कोई festival होता है तो इसपर आपको कुछ Discount मिल जाता है.

 

इस Website पर Discount वगेरा चलता ही रहता है लेकिन जो इनकी Services और Quality है वो बहुत बढ़िया है. जैसे ही आप Domain और Hosting को Connect करते है तो आपको WordPress install करके उसका Default Theme मिल जायेगा.

 

आज अपने क्या सिखा –

आज हमने  Web Hosting Kya Hai और उसको कैसे ख़रीदे ये सिखा, उसके बाद godaddy से domain और hosting कैसे ख़रीदे ये भी सिखा, उसके बाद (Web Hosting Kya Hai in hindi) Types Of Web Hosting in Hindi या वेब होस्टिंग के प्रकार भी जाने और उसमें Dedicated Hosting, Cloud Hosting, Shared Hosting, और VPS जैसे भी प्रकार होते है और साथ ही साथ हमने उसके फायदे और नुकसान भी देखे.

 

उन सबके बाद Linux Hosting vs Windows Hosting में क्या अंतर है इसकी पूरी जानकारी सीखी, Windows Hosting क्या है और आपको Hosting कहासे ख़रीदना चाहिए, Customer Service, Server Uptime, Bandwidth, और Disk Space in Hosting में क्या होता है और आखिर में WordPress Hosting क्या है ये भी हमने आज जाना.

This Post Has 2 Comments

  1. Suyog kulkarni

    Apka article bahut badiya hai

    1. Omkar Pandit

      धन्यवाद सर मुझे खुसी हुई.

Leave a Reply